शुक्रवार, 12 नवंबर 2021

प्रेम

स्त्रियां प्रेम को कई 
हिस्सों में बाँटकर 
अपना श्रृंगार करती हैं 
और हर हिस्सा 
अपने आप में 
पूर्ण होता है
गालों पर लालिमा 
होंठों पर मुस्कान 
आँखों में काजल 
माथे पर बिंदी 
लहराते बाल
बालों में फूल 
बस ऐसे ही वो 
अपने प्रेम को दर्शाती है ...

लहरें

इन लहरों की ही तरह  एक दिन मैं भी आजाद  हो जाऊँगी तुम कैद करते रहना मुझे  मैं इन किनारों को  ही तोड़ जाऊँगी तुम्हारे हिस...